उत्तराखंड

कांग्रेस आला कमान ने बदल डाले कई राज्यों के प्रभारी, कुमारी सैलजा को दिया गया उत्तराखंड का प्रभार

Listen to this article

देहरादून: कांग्रेस आला कमान ने कई राज्यों के प्रभारी बदले हैं। इसी क्रम में कुमारी सैलजा को उत्तराखंड का प्रभारी बनाया गया। वहीं देवेंद्र यादव को पंजाब की जिम्मेदारी दे दी गई है।

शैलजा कुमारी अंबाला की सांसद रह चुकी हैं। उन्होंने इस निर्वाचन क्षेत्र में दो कार्यकालों तक कार्य किया। अंबाला में सेवा देने से पहले, वे दो कार्यकालों के लिए सिरसा निर्वाचन क्षेत्र के लिए चुनी गई थीं। वे यूपीए सरकार में सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय में कैबिनेट मंत्री रह चुकी हैं।

रोचक तथ्‍य उन्होंने 1990 में महिला कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में राजनीतिक मैदान में प्रवेश किया। राजनीतिक घटनाक्रम 2014 Ceased to be a member of the Lok Sabha upon election as Member of Rajya Sabha. राज्यसभा की सदस्य के रूप में लोकसभा चुनाव लड़ने से रोक दिया गया। kindly check 2011 केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन और संस्कृति और केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय। 2009 केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन और पर्यटन। 2009 वे भाजपा के रतन लाल कटारिया को हराकर अंबाला से चौथे कार्यकाल के लिए 15 वीं लोकसभा के लिए फिर से चुनी गईं। 2004 केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय। 2004 भाजपा के रतन लाल कटारिया को दो लाख से अधिक मतों के अंतर से हराकर उन्हें अंबाला से तीसरे कार्यकाल के लिए 14 वीं लोकसभा के लिए फिर से चुना गया।

1996 सचिव और प्रवक्ता, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी। 1996 वे दूसरे कार्यकाल के लिए सिरसा से 11 वीं लोकसभा के लिए फिर से चुनी गईं। हालांकि, वे आगामी चुनाव हार गईं। 1995 केंद्रीय राज्य मंत्री, शिक्षा और संस्कृति विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय। 1992 केंद्रीय उप मंत्री, शिक्षा और संस्कृति विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय। 1991 जेपी के हेत राम को एक लाख मतों के अंतर से हराकर वे सिरसा निर्वाचन क्षेत्र से 10 वीं लोकसभा के लिए चुनी गई। 1990 वे अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की संयुक्त सचिव चुनी गईं।

ये भी पढ़ें:  बिना विपक्ष के हुई कार्यमंत्रणा की बैठक, 27 फरवरी को बजट पेश करेगी सरकार

Related Articles

Back to top button