उत्तराखंडदेहरादूनस्वास्थ्य और शिक्षा

एम्स निदेशक ने सोशल डिस्टेन्स को साइकिल के इस्तेमाल पर दिया जोर

Listen to this article

देहरादून। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में कोरोना काल में शुरू की गई ग्रीन कैंपस मुहिम के तहत संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने साइकिल से अपने कार्यालय पहुंचकर सामाजिक दूरी बनाए रखने का संदेश दिया।

एम्स प्रशासन ने संस्थान परिसर में आवागमन के लिए साइकिल के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की बात कही है,जिससे एक से दूसरे व्यक्ति में उचित सामाजिक दूरी बनी रहे और हम कोविड19 के संक्रमण से सुरक्षित रह सकें। इसके लिए संस्थान की ओर से फैकल्टी सदस्यों को 15 व सिक्योरिटी गार्ड को 5 साइकिलें उपलब्ध कराई हैं।

एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत शनिवार को अपने आवास से साइकिल से कार्यालय पहुंचे। इससे उन्होंने ग्रीन कैंपस मुहिम के तहत कोरोना काल में सामाजिक दूरी बनाए रखने के साथ साथ स्वास्थ्य के प्रति सजग रहने का संदेश दिया। निदेशक प्रो. रवि कांत जी ने संस्थान के अन्य फैकल्टी मेंबर्स को भी एम्स परिसर में साइकिल का उपयोग करने को कहा है,वजह यह है कि स्कूटर तथा कार की तरह इन साइकिलों में अन्य सवारी बिठाने की व्यवस्था नहीं है जिससे एक-दूसरे व्यक्ति में आपसी सामाजिक दूरी भी बनी रहेगी और इससे स्वास्थ्य भी अच्छा रह सके।

अपने संदेश में निदेशक एम्स ने बताया कि अति आवश्यक होने पर ही अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान कैंपस में वाहन का प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने अन्य फैकल्टी सदस्यों, स्टाफ व स्टूडेंट्स से भी ग्रीन कैंपस मुहिम को सफल बनाने के लिए परिसर में साइकिल का उपयोग सुनिश्चित करने की अपील की है। इसके अलावा संस्थान की ओर से फैकल्टी मेंबर्स के लिए 15 साइकिलें व परिसर में चक्रमण करने वाले सिक्योरिटी गार्ड्स को भी कैंपस में भ्रमण के लिए साइकिल उपलब्ध कराई हैं,जिससे दूसरे लोगों को भी उचित सामाजिक दूरी बनाए रखने का संदेश दिया जा सके।

Related Articles

36 Comments

  1. Just wish to say your article is as amazing. The clarity in your post is simply spectacular and i can assume you are an expert on this subject. Well with your permission let me to grab your RSS feed to keep updated with forthcoming post. Thanks a million and please continue the enjoyable work.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!