उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीतिराज्य

एलिवेटेड हाईवे बनने से भानियावाला-जौलीग्रांट बाजार पर संकट, जानिए कितना ध्वस्त होगा बाजार

खबर को सुने

Dehradun. भानियावाला फ्लाई ओवर से लेकर जौलीग्रांट चौक तक करीब तीन किलोमीटर एलिवेटेड हाईवे बनाए जाने की कवायद एनएचएआई द्वारा शुरू कर दी गई है।

जिस कारण भानियावाला और जौलीग्रांट मुख्य बाजार के सैकड़ों दुकानदारों पर रोजी-रोटी का संकट छा सकता है। मंगलवार को संबधित अधिकारियों और भानियावाला के व्यापारियों की एक बैठक भी हुई।

जिसमें दूसरे विकल्पों पर भी चर्चा की गई। भानियावाला से लेकर ऋषिकेश मार्ग अब एनएचएआई को दे दिया गया है। जिस कारण अब एनएचएआई भानियावाला से लेकर ऋषिकेश तक मार्ग को टू लेन से फोर लेन करने जा रहा है। एनएचएआई इस सड़क को फोरलेन में तब्दील करेगा।

हाईवे की चौड़ाई 12 से बढ़ाकर 25 मीटर हो जाएगी। इसके साथ ही भानियावाला से जौलीग्रांट तक आबादी क्षेत्र है। यहां चौड़ीकरण की जद बड़ी संख्या में भवन व दुकानें आ रही हैं। भवनों व दुकानों आदि को बचाने के लिए यहां तीन किलोमीटर का एलिवेडट फ्लाइओवर बनाने की तैयारी है।

लेकिन वहीं दूसरी तरफ भानियावाला और जौलीग्रांट में दशकों से अपनी दुकानें आदि चला रहे सैकड़ों दुकानदारों के सामने रोजी-रोटी का भी संकट खड़ा हो सकता है। स्थानीय निवासी और भाजपा महिला मोर्चे की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य कुसुम सिद्धू ने कहा कि भानियावाला और जौलीग्रांट में एलिवेटेड हाईवे बनने से काफी लोगों का रोजगार प्रभावित होगा।

इसलिए संबधित अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए उनकी तरफ से कहा गया कि लच्छीवाला की तरफ से जो ऋषिकेश के लिए रेलवे ट्रैक निकाला जा रहा है। उसी के साथ बायपास मार्ग की व्यवस्था की जाए।

 

जिससे भानियावाला और जौलीग्रांट मुख्य बाजार को बचाया जा सके। कहा कि संबधित विभाग वर्तमान मार्ग से 35-35 मीटर दोनों तरफ मार्ग को चौड़ा कर एलिवेटेड हाईवे बनाने जा रहा है। जिससे सैकड़ों दुकानदारों की रोजी-रोटी पर संकट आ जाएगा। वहीं काफी मकान भी इसकी जद में आ जाएंगे।

उधर डोईवाला विधायक बृजभूषण गैरोला ने कहा कि उन्होंने संबधित अधिकारियों से नए रेलवे ट्रैक के पास से मार्ग बनाने या दूसरे बायपास मार्ग पर विचार करने को कहा है। जिससे स्थानीय लोगों पर दुकानदारों की समस्या का हल हो सके। इस दौरान उप महाप्रबंधक अंशु शर्मा, अभियंता अश्विनी, जंगलात इंचार्ज घनानंन उनियाल आदि उपस्थित रहे।

 

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!