उत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

10 किलोमीटर की चढ़ाई पैदल तय कर इस गांव पहुंचे डीएम

गौचर चमोली 4 नवंबर। शुक्रवार को जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना 18 किमी की दुर्गम खड़ी चढ़ाई पैदल तय करते हुये जिले के सबसे दुरस्त गांव डुमक पहुंचे।

 

इस दौरान उन्होंने सुदूरवर्ती गांव किमाया, कलगोठ और डुमक में ग्रामीणों की समस्याऐं सुनी। और विभिन्न विकास योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया।

जिलाधिकारी के दूरस्थ क्षेत्र, कलगोठ, डुमक गांव पहुंचने पर ग्रामीण खाशे उत्साहित नजर आये। उन्होंने डीएम का फूल मालाओं से भव्य स्वागत करते हुये अपनी खुशी जाहिर की।

 

डीएम ने कलगोठ गांव में एएनएम सेंटर, प्राथमिक विद्यालय कलगोठ का निरीक्षण किया। कलगोठ गांव में चौपाल लगाकर जनता की समस्या सुनी।

कलगोठ गांव प्रधान बीरा देवी एवं समस्त ग्रामवासियों ने दूरस्थ गांव में पहली बार किसी डीएम के पहुंचने पर खुशी व्यक्त करते हुये डीएम का जोरदार स्वागत किया।

 

उन्होंने कहा कि आज दूरस्थ क्षेत्र में बुनियादी सुविधाओं की आश जगी है। इस दौरान ग्रामीणों ने क्षेत्र की समस्याऐं रखी। जिसमें सैजी लगा कुजौं – मैकोट मोटर मार्ग के किमी 22 व 24 में समरेखण विवाद दूर करने, प्रधानाचार्य के रिक्त पद पर तैनाती और स्कूल में प्रयोगशाला निर्माण, फसलों की सुरक्षा के लिऐ घेरवाड़ आदि समस्याऐं रखी।

 

 

डीएम ने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं का प्राथमिकता पर निराकरण किया जायेगा।

ललिता प्रसाद लखेड़ा की रिपोर्ट

ये भी पढ़ें:  अंकिता, अग्निपथ और उत्तराखंड की अस्मिता पर केंद्रित हो चुका चुनाव : राजीव महर्षि

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!