उत्तराखंडदेहरादूनराजनीतिस्वास्थ्य और शिक्षा

शिक्षक दिवस पर डोईवाला के ये शिक्षक हुए सम्मानित

Listen to this article

डोईवाला। शिक्षक दिवस के अवसर पर पब्लिक इंटर कालेज डोईवाला में सेवानिवृत्त शिक्षकों को सम्मानित किया गया।

मुख्य अतिथि इंटक के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व काबीना मंत्री हीरा सिंह बिष्ट ने शिक्षकों को स्मृति चिन्ह व शाल भेट कर सम्मानित करते हुए कहा कि एक सच्चा गुरू अपने शिष्य की सफलता को अपनी सफलता मानकर हमेशा उसका शुभ चिंतक बना रहता है। विद्यालय के पूर्व शिक्षक सुरेन्द्र कुमार गैरोला, पीतांबर सिंह पाल, सरवन सिंह सैनी, सुषमा शाह, सुधा नौटियाल, वीरेन्द्र दत्त ममगाई, रघुवीर सिंह पुडीर को सम्मानित किया गया।

मौके पर विद्यालय प्रबंधक मनोज नौटियाल, प्रधानाचार्य जितेन्द्र कुमार, पूर्व राज्य मंत्री अनिल सैनी, मोहित उनियाल, उमेद बोरा, सभासद गौरव मलहोत्रा, नरेन्द्र नेगी इसलामुदीन, सुन्दर लाल बिजलवाण, सरदार हरबंस सिंह, रूप चंद, राजवीर खत्री आदि मौजूद रहे।

उधर राजकीय प्राथमिक विद्यालय रामगढ़ में शिक्षाविद् और पूर्व राष्ट्रपति डॉ० सर्वपल्ली राधाकृष्णन को श्रद्धा सुमन अर्पित किये गए।

प्रधानाध्यापक अरविन्द सोलंकी ने कहा कि डॉ० राधाकृष्णन भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद और महान दार्शनिक के रूप में जाने जाते हैं। उन्हें 27 बार नोबेल पुरस्कार के लिये नामित किया गया था। वर्ष 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया। शिक्षा के क्षेत्र में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा है।

डोईवाला। उतराखण्ड माध्यमिक शिक्षक संघ की इकाई पब्लिक इंटर कालेज के शिक्षकों व शिक्षणेतर कर्मचारियों ने शिक्षक दिवस पर काली पट्टी बांधकर अपना विरोध दर्ज कराया। इन शिक्षकों का कहना है कि उन्हे तीन माह से राज्य के अशासकीय विघालयो के शिक्षकों एवं शिक्षणेतर कर्मचारियों को वेतन नही मिला है। यदि शीघ्र ही अशासकीय विघालयों का वेतन बजट जारी न किया गया तो राज्य भर में चरणबद्ध आंदोलन किया जाएगा।

विरोध दर्ज कराने वालो में प्रधानाचार्य जितेन्द्र कुमार, अश्विनी गुप्ता, जेपी चमोली, आलोक जोशी, ओमप्रकाश काला, रतनेश द्विवेदी, विवेक बधानी, आशुतोष डबराल, वेद प्रकाश धीमान, मदन थपलियाल, उदय सिंह पाल, पाल उमा देवी आदि शामिल रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!