अपराधउत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराजनीतिस्वास्थ्य और शिक्षा

Doiwala के इन क्षेत्रों में स्कूलों के पास मौत बनकर दौड़ रहे हैं भारी वाहन, कार्यवाई की मांग

भानियावाला व जौलीग्रांट में भारी व बहुत भारी वाहनों से नई सड़कें हुई क्षतिग्रस्त

Doiwala. क्षेत्र के स्कूलों के पास खनन से लदे और अन्य भारी वाहन मौत बनकर दौड़ रहे हैं।

स्कूलों के पास के अलावा गांव की मुख्य सड़कों और गलियों में खनन, ईटें और अन्य सामान से लदे भारी वाहन सड़कों, पेयजल लाइनों, सिंचाई लाइनों आदि को भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। स्कूलों के पास से खनन सामाग्री लदे और अन्य भारी वाहनों से स्कूली बच्चों के लिए खतरा पैदा हो गया है।

भानियावाला, जौलीग्रांट आदि स्थानों पर स्कूलों के पास खनन सामाग्री से लदे भारी वाहन फर्राटा भर रहे हैं। जिससे आए दिन दुघर्टना होने का भय बना हुआ है। वहीं भानियावाला और जौलीग्रांट की गांव की सड़कों पर भारी से बहुत भारी वाहन खनन और अन्य सामाग्री लेकर दिन में और आधी रात के बाद दौड़ रहे हैं। इससे कुछ समय पहले ही लोनिवी द्वारा बनाई गई सड़कें कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त हो गई हैं।

और कई स्थानों पर बहुत भारी वाहनों की आवाजाही से नई सड़कें धंस गई हैं। वहीं इन वाहनों की आवाजाही से हमेशा दुघर्टना होने का खतरा बना हुआ है। आरएसएस सेवा भारती के संजय प्रजापति ने कहा कि भारी और बहुत भारी वाहनों की आवाजाही से भानियावाला और जौलीग्रांट में स्कूलों के पास स्कूली बच्चों को कभी भी खतरा हो सकता है। इसलिए सुबह सात से लेकर दोपहर तीन बजे तक स्कूलों के आसपास भारी व बहुत भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगाई चाहिए। उन्होंने इस संबध में प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।

ये भी पढ़ें:  ऋषिकेश में 19 मई को 4967 यात्रियों का पंजीकरण, 310 यात्री वाहनों को जारी हुए ट्रिप कार्ड, चारधाम यात्रा में यात्री व वाहनों की संख्या नियंत्रित करने पर जोर

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!