उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

इस वजह से सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओं ने किया बायोमेट्रिक प्रणाली का विरोध

Listen to this article

देहरादून। राशन विक्रेताओं ने बायोमेट्रिक प्रणाली का विरोध करते हुए कहा है कि बिना इंटरनेट खर्च के वो कैसे बायोमेट्रिक करेंगे।

सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओ ने शासन की ओर से बिना इंटरनेट खर्च के बायोमेट्रिक प्रणाली का बेवजह दबाव बनाने पर नाराजगी जताते हुए आंदोलन की चेतावनी दी है।

उन्होंने कहा कि बेवजह दबाव बनाने से विक्रेताओं के साथ ही उपभोक्ताओं को भी इससे परेशानी झेलनी पड़ रही है। रविवार को नगर पालिका सभागार में हुई बैठक में डोईवाला व मियांवाला सर्किल के सभी राशन विक्रेताओं ने विरोध जताया।

 

आदर्श राशनिंग डीलर वेलफेयर सोसाइटी के प्रदेश महामंत्री संजय शर्मा ने कहा कि विगत कई वर्षों से राशन विक्रेताओं को इंटरनेट का खर्चा नहीं दिया गया है।

और न विभाग की साइट ठीक प्रकार से चल रही है। जिससे रोजाना आनलाइन प्रक्रिया में बाधा उत्पन्न होती है। विक्रेताओं की तमाम शिकायतों के बावजूद भी इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। और राशन विक्रेताओं को बेवजह दबाव बनाकर परेशान किया जा रहा है।

 

संगठन के जिला महामंत्री नेमचंद गुप्ता ने कहा कि सरकार राशन विक्रेताओं से बिना मानदेय के कार्य करा रही है। सरकार को पहले राशन विक्रेताओं को मानदेय देना चाहिए। विगत पिछले कई माह का राशन विक्रेताओं को लाभांश भी नहीं दिया गया है।

बैठक में शशि सिन्धवाल, मंजू रानी, पदमा राठौर, प्रदीप पाल, अनुज गोयल, रघुवीर सिंह, नवीन बड़थ्वाल, अजय थापा, सुनीता देवी, दुर्गेश गुप्ता, उमेद सिंह, सुदेश बलोदी, मोहम्मद असलम, नरेंद्र मखलोगा, राकेश , आशीष मनवाल आदि कई विक्रेता मौजूद रहे।

 

ये भी पढ़ें:  SSP देहरादून की बड़ी कार्यवाही, कई अधिकारियों के वेतन रोकने के आदेश

राशन विक्रेताओं की नई कार्यकारिणी का गठन

डोईवाला। आदर्श राशनिंग डीलर्स वेलफेयर सोसाइटी के प्रदेश महामंत्री संजय शर्मा ने डोईवाला के पूर्व अध्यक्ष नेमचंद गुप्ता को संगठन में जिला महामंत्री नियुक्त किया है। इसके अलावा डोईवाला ब्लॉक कार्यकारिणी का निर्विरोध चयन करते हुए अध्यक्ष महेंद्र सिंह, उपाध्यक्ष

विजय कार्की, सचिव भारत भूषण कौशल, कोषाध्यक्ष जोगेंद्र गुप्ता, संगठन मंत्री फरीद आलम व संरक्षक के रूप में राजाराम गुप्ता को जिम्मेदारी दी गई है।

Related Articles

Back to top button