अपराधउत्तराखंडदेहरादून

सौंग नदी में ढांग गिरने से श्रमिक की मौत, दो गिरफ्तार

Listen to this article

सौंग नदी के धर्मूचक में रात में किया जा रहा था खनन

Dehradun. डोईवाला के धर्मूचक क्षेत्र में सौंग नदी में रात में खनन निकालते हुए ढांग के गिरने से उसमें दबकर एक श्रमिक की मौत हो गई।

घटना रविवार रात आठ बजे के आसपास की बताई जा रही है। जब कुछ मजदूर नदी से खनिज निकाल रहे थे। अचानक ढांग के गिरने से वहां काम कर रहे नीरपाल पुत्र लक्ष्मण मूल निवासी सहारनपुर, यूपी हाल निवासी धर्मूचक की मौत हो गई। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस और आला अधिकारी मौके पर पहुंचे। और जरूरी कार्रवाई की। पुलिस ने तहरीर के आधार पर इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

धर्मूचक सौंग नदी में किसी भी तरह का खनन कार्य बंद है। लेकिन इसके बावजूद वहां रात में खनन निकाला जा रहा था। जिस कारण बड़ा हादसा हो गया। और एक श्रमिक की ढांग के नीचे दबने से मौत हो गई। इस मामले में सतीश कुमार निवासी सहानपुर, यूपी हाल निवासी धर्मूचक, डोईवाला की तरफ से पुलिस में मामला दर्ज करवाया गया है।

जिसमें कहा गया है कि उनके जीजा नीरपाल को नदी में खनन निकालने के लिए भेजा गया था। जहां ढांग (टीले) के नीचे दबने के कारण नीरपाल की मौत हो गई। इस मामले में दीपक कुमाई और शुभम पाल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। कोतवाल सूर्यभूषण नेगी ने कहा कि इस मामले में मामला दर्ज करने के बाद दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

इन्होंने कहा

डोईवाला की नदियों में पूरी रात अवैध खनन किया जा रहा है। लेकिन संबधित विभाग आंखू मूंदे हुए है। ये सबकुछ बड़े लोगों की मिलीभगत से डोईवाला में किया जा रहा है। राहुल सैनी, विस अध्यक्ष यूथ कांग्रेस।

नहीं रूक रहा नदियों से अवैध खनन

पुलिस-प्रशासन की छापेमारी के बावजूद क्षेत्र की नदियों से अवैध खनन रूकने का नाम नहीं ले रहा है। नदियों में बड़े-बड़े गढ्ढे में घुसकर रात भर खनन कार्य किया जाता है। यदि दूर से रात में संबधित विभाग के लोग वहां जाते भी हैं तो गढ्ढे या ढांग के नीचे कार्य करने वाले श्रमिक टार्च या किसी रोशनी में दिखाई ही नहीं देते हैं। जिससे पर्यावरण को नुकसान व सरकार को राजस्व की हानि हो रही है। वहीं खनन माफिया काफी फल-फूल रहे हैं।

 

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!