उत्तराखंडदेहरादूनराजनीति

राजभवन घेराव को जा रहे किसानों को पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर रोका

Listen to this article

किसानों को रोकने को पुलिस ने किए थे पुख्ता इंतजाम

डोईवाला। संयुक्त किसान मोर्चा उत्तराखंड के आवह्नन पर राजभवन घेराव को जा रहे किसानों को पुलिस ने पहले ही रोक लिया।

डोईवाला से सैकड़ों किसानो ने ट्रेक्टर रैली निकालकर राजभवन के लिए कूच किया। रैली को डोईवाला में ही रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। लच्छीवाला टोल बैरियर पर पुलिस ने किसानों को रोकने की कोशिश की। और उससे आगे भी कई स्थानों पर पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए कड़े इंतजाम किए थे।

रैली को समर्थन देने के लिए डोईवाला पूर्व विधायक हीरा सिंह बिष्ट भी डोईवाला पहुंचे। और भारी संख्या में किसान आगे बढे। रैली में डेढ सौ के लगभग ट्रैक्टरों, चौपहिया और दोपहिया वाहनों में सवार होकर किसान डोईवाला से आगे बढे। किसानों की मांग थी कि तीनों कृर्षि कानूनों को वापस लिया जाए।

डोईवाला से शुरू हुई किसानों की रैली लच्छीवाला से आगे बढना चाहती थी। लेकिन पुलिस ने किसानों को रोकने के कड़े इंतजाम कर रखे थे। सीमेंट के बोल्डर, जेसीबी, बड़े ट्राले लगाकर किसानों को रोकने की कोशिश की गई।

किसान मोर्चे के सदस्य उमेद बोरा ने कहा कि भानियावाला, लच्छीवाला, टोल बैरियर, मणिमाई मंदिर, जोगीवाला तक बैरिकेडिंग तोड़कर किसान आगे बढे। और मोहकमपुर तक ही आगे जा सके। मौके पर ताजेंद्र सिंह, हरेंद्र बलियान, सुरेंद्र सिंह खालसा, बलबीर सिंह, गौरव चौधरी, मनोज नौटियाल, सुबोध जायसवाल आदि उपस्थित रहे।

मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं रही ठप

डोईवाला। डोईवाला, जौलीग्रांट आदि स्थानों पर कई कंपनियों के सिम काम नहीं कर रहे थे। सुबह दस बजे के आसपास से लेकर दोपहर तक कई कंपनियों के सिम के सिग्नल पूरी तरह से गायब थे। न तो फोन आ रहा था। और न कोई फोन जा रहा था। इंटरनेट सेवाएं भी पूरी तरह बाधित रही।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!