उत्तराखंड

आयुष और वेलनेस में निवेश के लिए तैयार कई निवेशक, दून के इस वैलनेस रिजॉर्ट का कॉन्सेप्ट पीएम मोदी को भाया, तस्वीरें की शेयर

आयुष और वेलनेस में निवेश के लिए तैयार कई निवेशक, स्थानीय लोगों को भी मिलेगा रोजगार वैश्विक निवेशक सम्मेलन में आयुष वेलनेस, आयुष शिक्षा और विनिर्माण में निवेश के लिए प्रदेश सरकार ने 5800 करोड़ के प्रस्ताव पर एमओयू किया है।आयुष एवं वेलनेस क्षेत्र में उत्तराखंड निवेश के लिए आकर्षक डेस्टिनेशन बन रहा है।

इसी की तर्ज पर एक रिजॉर्ट देहरादून के डूंगा मसरास पट्टी मे भी बन रहा है जिसका कॉन्सेप्ट इतना गजब है कि प्रधानमंत्री मोदी को भी पसंद आया और उन्होंने बकायादा अपने ट्विटर हेंडल से इसकी तस्वीरें शेयर की ओम कल्याणम नाम के इस रिजॉर्ट मे ना केवल लजीज खाना मिलेगा बल्कि शानदर स्टे भी मिलेगा और वेलनेस की तमाम विधाओं का फायदा भी मिलेगा इस रिजॉर्ट के प्रमोटर सचिन और राहुल ने साफ कहा की ये उत्तराखंड के लिए बिलकुल नया कॉन्सेप्ट है यहाँ अध्यात्म के साथ साथ सबकुछ मिलेगा जों आजकल भाग दौड़ भरी जिंदगी मे रहने वाले तमाम लोगो को बहुत पसंद आएगा.

आपको बता दें कई कंपनियों ने आयुष वेलनेस में निवेश को धरातल पर उतारने के लिए काम शुरू कर दिया है। उत्तरकाशी के डुंडा में वेलनेस रिजॉर्ट और पछूवा दून के मसरास पट्टी में वेलनेस रिट्रीट बनाया जाएगा। इससे स्थानीय लोगों को भी रोजगार के अवसर मिलेंगे।वैश्विक निवेशक सम्मेलन में आयुष वेलनेस, आयुष शिक्षा और विनिर्माण में निवेश के लिए प्रदेश सरकार ने 5800 करोड़ के प्रस्ताव पर एमओयू किया है। कई निवेशकों ने अपने निवेश प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने के लिए काम शुरू कर दिया है। महर्षि आयुर्वेद उत्तरकाशी के डुंडा में फाइव स्टार वेलनेस रिजॉर्ट बनाएगी। इसके लिए जमीन मिल चुकी है।

ये भी पढ़ें:  चारधामों में दर्शन के लिए यात्रियों की दैनिक निर्धारित सीमा समाप्त

जबकि ओम कल्याणम ने पछुवा दून के मसरास पट्टी में वेलनेस रिट्रीट का डिजाइन तैयार लिया है। जहां पर पर्यटकों को एस्ट्रोलॉजी, अघ्यात्म, वेलनेस, आयुर्वेद चिकित्सा की सुविधा मिलेगी। वेलनेस रिट्रीट को विकसित करने के लिए ओम कल्याणम ने केरल की शांति सिटी तकनीकी सहयोग के लिए अनुबंध किया है। इसके अलावा मिडास ग्रुप भी उत्तराखंड में वेलनेस सिटी बनाने के लिए जमीन तलाश रही है।

उत्तराखंड बनेगा आयुष एवं वेलनेस का हब
उत्तराखंड में आयुष एवं वेलनेस की काफी संभावनाएं हैं। देश-दुनिया के निवेशक इस क्षेत्र में निवेश के लिए उत्तराखंड आ रहे हैं। पर्वतीय क्षेत्रों में आयुष वेलनेस में निवेश से स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा। साथ ही सेवा क्षेत्र में निवेश से राज्य की अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी।

आयुष वेलनेस में निवेश के लिए उत्तराखंड डेस्टिनेशन के रूप में उभर रहा है। प्रदेश सरकार की नीतियां और राज्य की आबोहवा और नैसर्गिक सुंदरता निवेशकों को काफी पसंद आ रहा है। कई निवेशकों ने निवेश प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने के लिए काम शुरू कर दिया है।
-डॉ. पंकज कुमार पांडेय, सचिव आयुष

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!