उत्तराखंड

NITI आयोग के सदस्य व महान वैज्ञानिक डॉ. सारस्वत बने ग्राफिक एरा के चांसलर

Listen to this article

देहरादून: देश के मशहूर वैज्ञानिक और नीति आयोग के सदस्य डॉ. विजय कुमार सारस्वत ने ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के चांसलर के रूप में कार्यभार संभाल लिया। आज भव्य चांसलर अलंकर समारोह में डॉ. सारस्वत ने यह दायित्व संभाला। नीति आयोग के सदस्य पद पर रहते हुए उनका इस प्रमुख विश्वविद्यालय का चांसलर बनना उत्तराखंड और ग्राफिक एरा को गौरवांवित करने वाली उपलब्धि है।

नीति आयोग के सदस्य डॉ. विजय कुमार सारस्वत, पहले देश के बहुत महत्वपूर्ण वैज्ञानिक संस्थान- रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डी.आर.डी.ओ.) के डायरेक्टर जनरल और रक्षा मंत्रालय में मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के रूप में देश की सेवा कर चुके हैं। के. पी. नौटियाल ऑडिटोरियम में आयोजित चांसलर अलंकरण समारोह की शुरूआत एकेडमिक प्रोसेशन से हुई।

प्रोसेशन में यूनिवर्सिटी का गरिमामयी सेंगोल लेकर कुलसचिव डी के जोशी सबसे आगे चल रहे थे। ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के चांसलर डॉ. एस के खंडूजा, ग्राफिक एरा के दोनों विश्वविद्यालयों के, वाइस चांसलर डॉ. नरपिंदर सिंह व डॉ. संजय जसोला, प्रो-चांसलर डॉ. राकेश शर्मा और अन्य पदाधिकारी भी इस अभूतपूर्व शैक्षिणित शोभायात्रा में शामिल हुए।

मैनेजमेंट के पदाधिकारियों और संकाय सदस्यों को संबोधित करते हुए नीति आयोग के सदस्य और ग्राफिक एरा के चांसलर डॉ. वी. के. सारस्वत ने विश्वविद्यालय को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए शैक्षिणिक उत्कृष्टता, नवाचार का बढ़ावा देने और रचनात्मक कार्यक्रमों की महत्ता को रेखांकित किया। उन्होंने कहा कि अनुसंधान की पहल और मल्टीडिसिप्लिनरी सहयोग बढ़ाकर विश्व में एक अलग पहचान बनाई जा सकती है।

डॉ. सारस्वत ने विश्वविद्यालय को विश्व स्तरीय बनाने का आह्वान करते हुए दुनिया की प्रमुख संस्थाओं के साथ साझेदारी करने, वैश्विक आउटरीच और शोध में नये आयाम स्थापित करने को आवश्यक बताया। उन्होंने शिक्षा की गुणवत्ता, नये क्षेत्रों में शोध और नई तकनीकों से जुड़ने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की। डॉ सारस्वत ने विश्वास जताया कि ग्राफिक एरा का नेतृत्व अपनी प्रेरणा और सशक्तिकरण के जरिये विश्वविद्यालय को सफलता और उपलब्धियों के नए शिखरों पर पहुंचाएगा।

ये भी पढ़ें:  डोईवाला में पेराई सत्र समाप्ति का तीसरा आखिरी नोटिस जारी, जल्दी मिल को गन्ना दें किसान

इससे पहले, ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी के चांसलर प्रो. एस के खंडूजा ने समारोह को संबोधित किया और नये चांसलर डॉ सारस्वत को विश्वविद्यालय का सेंगोल सौंपा। समारोह में आदित्य अग्निहोत्री ने डॉ सारस्वत के जीवन परिचय पर प्रकाश डाला। प्रो चांसलर डॉ राकेश शर्मा ने अंत में आभार व्यक्त किया।

उधर, ग्राफिक एरा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डॉ. कमल घनशाला ने डॉ. सारस्वत को बधाई देते हुए अपने संदेश में इस बात पर जोर दिया कि डॉ. सारस्वत का यह दायित्व संभालना बहुत रोमांचक और नई उम्मीदें जगाने वाली उपलब्धि है। इससे विकास, नवाचार और उत्कृष्टता के एक नए युग का आगाज होगा और ग्राफिक एरा डीम्ड यूनिवर्सिटी में एक नया आयाम जुड़ जाएगा, जो निस्संदेह विश्वविद्यालय को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाएगा और गतिशीलता के नए आयाम स्थापित करेगा।

डॉ. घनशाला ने कहा कि डॉ. वी.के. सारस्वत नेतृत्व के प्रभावशाली ट्रैक रिकॉर्ड, अनुभवों के भंडार और ग्राफिक एरा में सबसे ज्यादा अपनाई जाने वाली मूल्यों के प्रति गहरी प्रतिबद्धता के साथ ग्राफिक एरा से जुड़े हैं। उच्च शिक्षा, अनुसंधान और सामुदायिक सहभागिता के प्रति उनका समर्पण ग्राफिक एरा के मिशन और दृष्टिकोण से पूरी तरह मेल खाता है। उन्होंने विश्वास प्रकट किया कि डॉ सारस्वत के मार्गदर्शन में ग्राफिक एरा और बड़ी उपलब्धियां हासिल करेगा।

Related Articles

Back to top button