उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मराज्य

बद्रीनाथ के इस धर्माधिकारी के सेवानिवृत्त होने पर भावुक हुए लोग, तुलसी माला और शाल ओढ़ाकर दी विदाई

*श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) के उपाध्यक्ष किशोर पंवार ने विदाई समारोह में तुलसी माला एवं शाल ओढ़ाकर धर्माधिकारी का स्वागत किया*

*सोमवार को श्री बदरीनाथ धाम में हुआ विदाई सम्मान समारोह का आयोजन किया गया*

बद्रीनाथ। गौचर / चमोली। श्री बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंद्र उनियाल आज 40 वर्ष की लंबी सेवा के बाद सेवानिवृत्त हो गये है।

श्री बदरीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति में सेवारत रहते हुए धर्माधिकारी उनियाल तन्मयता से भगवान बदरीविशाल की सेवा में जुटे रहे।

 

श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय तथा उपाध्यक्ष सहित सभी सदस्यों ने धर्माधिकारी उनियाल के सेवानिवृत्त होने पर दीर्घजीवन की कामना की है।

मुख्य कार्याधिकारी योगेन्द्र सिंह ने उन्हें शुभकामनाएं दी है।

आज श्री बदरीनाथ धाम में आयोजित विदाई समारोह में मंदिर समिति उपाध्यक्ष किशोर पंवार ने धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल को शाल ओढ़ाकर तथा तुलसी माला पहनाकर स्वागत किया उनके कार्यों की सराहना की।

इस अवसर पर माहौल भावुकता पूर्ण हो गया। धर्माधिकारी उनियाल के पारिवारिक जन‌ भी विदाई समारोह में मौजूद रहे।

विदाई समारोह में कर्मचारी संघ ने भी धर्माधिकारी को भगवान बदरीविशाल का प्रतीक चिन्ह भेंट किया।
इस अवसर पर मंदिर समिति सदस्य भास्कर डिमरी, अपर धर्माधिकारी राधाकृष्ण

थपलियाल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी गिरीश चौहान,मंदिर अधिकारी राजेंद्र चौहान, कर्मचारी संघ अध्यक्ष जगमोहन बर्त्वाल,

वेदपाठी रविन्द्र भट्ट, प्रभारी दफेदार कुलानंद पंत, संजय भंडारी, सतेंद्र चौहान, विकास सनवाल प्रदीप रावत, देवेंद्र बिष्ट आदि मौजूद रहे।

मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि आज ही मंदिर समिति के रूद्रप्रयाग विश्रामगृह में कार्यरत केयर टेकर मेहरबान सिंह बुटोला भी सेवानिवृत्त हुए आज बदरीनाथ धाम में उनको भी सेवानिवृत्त पर विदाई दी गयी।

मेहरबान सिंह बुटोला पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य हेतु कई बार सम्मानित हो चुके है।

ललिता प्रसाद लखेड़ा की रिपोर्ट

ये भी पढ़ें:  कावड़ यात्रा की तैयारियों को लेकर सीएम धामी ने ली बैठक, स्थानीय निवासियों को न हो कोई दिक्कत किसी तरह की न हो अव्यवस्था – CM

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!