उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीतिराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

उत्तराखंड के इस गांव में यातायात सुविधा न होने से पलायन कर रहे लोग

गौचर / चमोली। आजादी के 74 साल बाद भी जनपद चमोली में कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र का सकंड गांव आज भी यातायात सुविधा से वंचित है।

जिस कारण गांव से लोगों का पलायन हो रहा है। लेकिन अभी तक कोई भी सरकार कर्णप्रयाग विकासखंड के इस सुदूरवर्ती गांव सकंड को सड़क सुविधा से नहीं जोड़ पायी है।

जिस वजह से गांववासी सात किलोमीटर की पैदल आवाजाही करने को मजबूर हैं।
यातायात सुविधा न होने से गम्भीर रोगियों के साथ ही गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए

अस्पताल पहुंचाना गांववासियों के लिऐ भारी समस्या बनी हुई है। गांव के सामाजिक कार्यकर्ता दिगम्बर बिष्ट बताते हैं कि सड़क सुविधा की मांग करते हुये गांववासी थक चुके हैं।

आजादी के 74 साल में कई सरकारें आईं और गईं लेकिन किसी ने भी सकंड गांव की सुध लेना जरूरी नहीं समझा। कहते हैं कि सड़क सुविधा के अभाव में कई बीमार लोग रास्ते में

ही दम तोड़ देते हैं। गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिऐ अस्पताल पहुंचाना हमारे लिऐ बहुत ही कठ्ठिन कार्य हो रखा है।

सामाजिक कार्यकर्ता दिगम्बर बिष्ट कहते हैं कि हमारे क्षेत्र से ही अनिल नौटियाल जी भाजपा से तीन बार के विधायक हो गये हैं। उनसे भी गांववासी सड़क सुविधा की मांग कर चुके हैं।

लेकिन अभी तक सड़क सुविधा के बारे में कोई भी कार्यवाही होती नहीं दिखाई दे रही है।

ललिता प्रसाद लखेड़ा की रिपोर्ट

ये भी पढ़ें:  मुख्यमंत्री ने किया सोलर वाटर हीटर अनुदान योजना पोर्टल का शुभारंभ, पी.एम. सूर्यघर योजना के तहत 4 लाभार्थियों को वितरित किये राज्य अनुदान के चेक

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!