उत्तर प्रदेशउत्तराखंडदेशदेहरादूनपर्यटनमहाराष्ट्रराजनीति

देश के इन दस एयरपोर्ट को निजी हाथों में देने जा रही केंद्र सरकार

खबर को सुने

छह एयरपोर्ट को निजी हाथों में सौंपा, दस एयरपोर्ट और देने की तैयारी

एयरपोर्ट कर्मचारियों की भूख हड़ताल जारी, केंद्र पर नहीं हुआ असर

देहरादून। एयरपोर्ट पर भूख हड़ताल कर रहे कर्मचारियों का कहना है कि केंद्र सरकार ने देश के छह लाभप्रद एयरपोर्ट को निजी हाथों में दे दिया है।

जबकि दस एयरपोर्ट को और केंद्र सरकार निजी हाथों में सौंपने की तैयारियों में जुटी हुई है। एयरपोर्ट ऑथारिटी ऑफ इंडिया के कर्मचारी लाभ में चल रहे एयरपोर्ट को निजी हाथों में दिए जाने से नाराज हैं। जिस कारण उनका विरोध अब भूख हड़ताल तक पहुंच गया है। शाखा सचिव सुभाष सिंह रावत ने कहा कि देश के छह लाभ में चल रहे एयरपोर्ट तिरूअंतपुरम, मंगलौंर, गुवाहाटी, लखनऊ, अहमदाबाद और जयपुर को केंद्र सरकार पीपीपी के तहत प्राईवेट हाथों में दे चुकी है। और अब कालीकट, त्रिची, वाराणसी, अमृतसर, भुवनेश्वर, पटना इंदौर, कोयम्बटूर, रायपुर और रांची एयरपोर्ट को प्राईवेट हाथों में देने जा रही है। जिसका एयरपोर्ट कर्मचारी विरोध कर रहे हैं।

कहा कि प्राईवेट कंपनी पहले अपना मुनाफा देखती है। उसके बाद जनता और कर्मचारियों के बारे में सोचती है। इसलिए केंद्र सरकार को अपना ये फैसला वापस लेना चाहिए। और लाभ में चल रहे एयरपोर्ट की जगह नुकसान में चल रहे एयरपोर्ट को पीपीपी मोड़ में देना चाहिए। देहरादून एयरपोर्ट पर लगातार तीसरे दिन भूख हड़ताल की गई। हनुमान सिंह, अमर सिंह, जेपी पंत, बलवीर सिंह, राजविंदर सिंह, सुदीप धीरज, कुलदीप सिंह भूख हड़ताल पर बैठे। इस अवसर पर प्रवीण मलिक, रामनिवास, एनएस बिष्ट, राकेश मोहन आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

9 Comments

  1. Very nice info and right to the point. I don’t know if this is truly the best place to ask but do you guys have any ideea where to hire some professional writers? Thanks in advance 🙂

  2. Thanks , I have recently been searching for info approximately this topic for a while and yours is the greatest I’ve came upon so far. But, what in regards to the bottom line? Are you positive concerning the source?

  3. Aw, this was an incredibly nice post. Spending some time and actual effort to produce a very good articleÖ but what can I sayÖ I put things off a whole lot and never manage to get nearly anything done.

  4. Hi there i am kavin, its my first time to commenting anywhere, when iread this piece of writing i thought i could also makecomment due to this good paragraph.

  5. I don’t even know how I ended up here, but I thought this post was good.I don’t know who you are but certainly you are going to a famous blogger if youare not already 😉 Cheers!

  6. Thank you for the auspicious writeup. It in fact was a amusement account it.Look advanced to far added agreeable from you!However, how can we communicate?My blog; ps4 games of

  7. To Arya, it was like entering a hot, throbbing slippery grip. To Val, it was like being hit by a smoldering rod that brought an itch all over the walls of her femininity.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!