उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीतिराज्यविदेशस्वास्थ्य और शिक्षा

देश और सामाजिक हित की खबरों में पत्रकार का पक्ष भी जरूरी: डा0 भसीन

मिशन से प्रोफेशन तक की पत्रकारिता का दौर

Listen to this article

Dehradun. पत्रकारिता दिवस की पूर्व संध्या पर नगर पालिका सभागार डोईवाला में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।

जिसमें मुख्य वक्ता के रूप में प्रख्यात शिक्षाविद्, पत्रकार और भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष डां देवेंद्र भसीन ने दीप प्रज्जवित कर अपने विचार रखते हुए कहा कि नारदजी का उल्लेख वेदों, पुराणों, पुरातन स्मृतियों, रामायण, महाभारत आदि सभी स्थानों में मिलता है। हर वर्ष ज्येष्ठ कृष्ण द्वितीया को नारद जयंती मनाई जाती है। और नारदजी को ही पहला पत्रकार कहा जाता है।

जिस कारण तीस मई को ‘भारतीय पत्रकारिता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। पत्रकार को निष्पक्ष नहीं कहा जा सकता है। क्योंकि देशहित व समाजहित की खबरों में पत्रकार को निष्पक्ष न होकर अपना पक्ष भी रखकर खबरें बनानी चाहिए। पत्रकार का पक्ष उसकी सच्चाई होती है। और ऐसी खबरों में तथ्यों के साथ संवेदना भी होती है।

कहा कि आजादी काल में स्वत्रंत्रता सैनानी ही पत्रकार होते थे। गांधीजी भी पत्रकार थे। लेकिन आजादी के बाद पत्रकारिता का स्वरूप बदला है। और अब पत्रकारिता व्यवसाय हो गई है। लेकिन इसमें से ही एक पतली लाइन निकलती है वो ये है कि संवेदनशील लोग अभी भी समाज हित मे कार्य कर रहे हैं।

डां भसीन ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मीडिया भारत के मामलों में दखल दे रही है। खासकर टीवी मीडिया हाउस आज एजेंडा तय कर रहे हैं। केदारनाथ में हजारों लोगों ने दर्शन किये लेकिन ख़बरो में सिर्फ मरने वालों का जिक्र है।

पत्रकार को पत्रकार किसी ने बंदूक की नोक पर नही बनाया है। वो समाजहित में स्वचेछा से  पत्रकार बना है। लोग आज भी पत्रकारों की खबरों पर विश्वास करते हैं। लेकिन मीडिया में सतर्कता जरूरी है। टेक्नोलॉजी ने अखबारों को भी लाइव कर दिया है। टीवी में टीआरपी के चक्कर में कई बार तथ्य पीछे छूट जाते हैं। हिंदी का डंका दुनिया में बजा है।

जिस कारण गूगल को भी हिंदी में जाना पड़ा है। कहा कि संक्रमण काल मे समस्याएं होती हैं पर आखिर जीत सच्चाई की होती है। उत्तराखंड का इतिहास जब-जब लिखा जाएगा। तब-तब यहां के पत्रकारों को भी उसमें स्थान दिया जाएगा।

विधायक ने दिया प्रेस क्लब को मदद का आश्वासन

डोईवाला। डोईवाला विधायक बृजभूषण गैरोला ने आयोजित कार्यक्रम में कहा कि डोईवाला प्रेस क्लब कई सामाजिक कार्यो में बढ़-चढ़कर भाग लेता है। उनकी तरफ से प्रेस क्लब डोईवाला को हर संभव मदद दी जाएगी। उन्होंने कहा कि राजनीति के क्षेत्र में आने से पहले वो भी पत्रकार थे। इसलिए पत्रकारों के सामने जो चुनौतियां आती हैं।

उसे वो बखूबी जानते हैं। कार्यक्रम में प्रेस क्लब संरक्षक रामेश्वर लोधी, हेमा पुरोहित, संपूर्ण सिंह रावत, राजन गोयल, पूर्व राज्यमंत्री करण बोरा, मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल, राजकुमार ने भी विचार रखे। इस अवसर पर विक्रम नेगी, सभासद राकेश डोभाल, ईश्वर रौथाण, संदीप नेगी, प्रदीप नेगी जेठली, मोहित उनियाल,

उमेद बोरा, सागर मनवाल, दिनेश सजवाण, पंकज रावत, मनीष यादव, नरेंद्र नेगी, वर्षा वर्मा, अल्पना प्रजापति, आरती वर्मा, अंकित काला, सोनू गोयल, राहित क्षेत्री, सुशील जायसवाल, गौरव मलहोत्रा, अमित कुमार, अवतार सिंह, दिनेश सजवाण, गोपाल शर्मा, रीता नेगी, करतार नेगी, रागिनी जौहरी, पूनम तोमर, राममूर्ति ताई आदि उपस्थित रहे।

 

इन पत्रकारों को किया गया सम्मानित

डोईवाला। पत्रकारिता दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में पत्रकार संजय अग्रवाल, चंद्रमोहन कोठियाल, राजेंद्र वर्मा, प्रीतम वर्मा, नवल यादव, ज्योति यादव, पवन सिंघल, रजनीश सैनी, चमन कौशल, अश्विनी गुप्ता, राजेश पांडे, प्रियांश सक्सेना, मनीष धीमान को सम्मानित किया गया।

वहीं डोईवाला के पत्रकार जावेद हुसैन, आसिफ हसन, रितिक अग्रवाल, आशीष यादव आदि को मुख्य अतिथि द्वारा फूल-मालाएं पहनाकर डोईवाला प्रेस क्लब की सदस्यता दिलवाई गई।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!