उत्तराखंडदेहरादूनराजनीतिस्वास्थ्य और शिक्षा

(वीडियो) डिग्री कॉलेज की लैब में अब विद्यार्थी करेंगे आपके क्षेत्र के पेयजल की टेस्टिंग, वृक्षारोपण के बाद होगी पौधों की जियो टैगिंग: त्रिवेंद्र सिंह रावत

Listen to this article

देहरादून। डिग्री कॉलेज की लैब में अब विद्यार्थी आपके क्षेत्र के पेयजल की टेस्टिंग करते नजर आएंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने डोईवाला में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि उनकी सरकार एक ऐसी योजना लेकर आ रही है। जिसमे हर डिग्री कॉलेज के विद्यार्थियों से उस क्षेत्र की पेयजल योजना के पानी की कॉलेज की लैब में टेस्टिंग करवाई जाएगी। इसके बदले विद्यार्थियों को सरकार इंसेंटिव देगी। यदि पेयजल की गुणवत्ता ठीक नही पाई गई तो पेयजल को ठीक बनाकर लोगों के घरों तक पानी पहुंचाया जाएगा।

पेयजल की क्वालिटी और क्वांटिटी दोनों पर ध्यान दिया जाएगा। कहा कि पूरे देश में उत्तराखंड एक ऐसा राज्य है। जो महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने को पांच लाख तक का ऋण दे रहा है। इसलिए लिए महिलाओं को पति की संम्पत्ति में भी भागीदार बनाया गया है। जिससे उन्हे बैंक आसानी से ऋण दे सकता है।

 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अब वृक्षारोपण के बाद पोधो पर टैगिंग के लिए विशेषज्ञों से बातचीत की जा रही है। जिससे पौधे लगाने वाला व्यक्ति कहीं भी बैठकर उस पौधे की ग्रोध देख सकेगा। पौधों को लगाना ही काफी नहीं है। बल्कि उसकी वृक्ष बनने तक देखभाल भी जरूरी है। जिसके लिए जियो टैगिंग पर विशेषज्ञों से बातचीत चल रही है।

कहा कि आगामी पांच राज्यों में होने वाले चुनावों में बीजेपी भारी बहुमत से जीतने जा रही है। यही कारण है कि लोग बड़ी संख्या में भाजपा ज्वाइंन कर रहे हैं। उन्होंने भानियावाला में रक्तदान शिविर में पहुंचकर रक्तदान कार्यकर्ताओं का उत्साह बढाया।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!