अपराधउत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेहरादूनराज्य

डोईवाला में लोगों को लिफ्ट देकर एयरगन दिखाकर लूटने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

Listen to this article

डोईवाला। पुलिस ने लोगों को लिफ्ट देकर लूटने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

बीते शुक्रवार को वादी लोकेन्द्र कुमार पुत्र चेतराम सिंह निवासी ग्राम पित्थापुर थाना स्योहारा जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश द्वारा थाना डोईवाला पर आकर एक रिपोर्ट दर्ज कराई कि वो बीते बृहस्पतिवार को रात्रि में बिजनौर से देहरादून के लिए चला था। जब वो हरिद्वार पहुंचा और स्टेशन के बाहर बस का इंतजार करने लगा तो उन्हे एक व्यक्ति ग्रे कलर की आई 20 कार नं0 डीएलसीपी-3906 के साथ मिला। और कहने लगा कि वो देहरादून जा रहा है।

वो उसकी कार में बैठ गया। जब वो लालतप्पड से करीब 02 किमी आगे चले तो चालक ने हाईवे से लिंक रोड की तरफ मोड लिया। और कहने लगा कि मुझे गांव से कुछ सामान लेना है, जब वो कुछ दूर आगे चले तो एकांत में ड्राईवर ने गाडी रोक दी और पीछे की सीट पर सवारी के रुप में बैठे व्यक्ति ने पिस्टलनुमा हथियार निकालकर मेरे सिर पर वार कर दिया।

जिससे उसके सिर पर चोट भी आई। और उनकी जेब से 600/- रूपये व एटीएम कार्ड निकाल लिया। और चालक ने  मोबाईल और बैग भी छीन लिया और उन्हे एकांत में छोडकर भाग गये। जिस पर डोईवाला में मु0अ0सं0 362/2022 धारा 394 भादवि पंजीकृत किया गया।

पुलिस को पता चला कि इस तरह की घटना बृहस्पतिवार को रानीपोखरी में भी हुई है।  पुलिस ने इस मामले में मनीष रावत पुत्र सुरेन्द्र सिह रावत निवासी वर्तमान पता केयर ऑफ रामचन्द्र चौधरी लोअर तुनवाला रामपुर रोड थाना डोईवाला जनपद देहरादून उम्र- 25 वर्ष  स्थानी निवासी ग्राम चोपडाकोट थाना थलीसैण पौडी गढवाल, इन्द्रजीत सिंह बाजवा पुत्र गुरदीप सिह बांजवा वर्तमान निवासी एकता विहार कालोनी म0न0- 172 मोहक्मपुर थाना नेहरूकालोनी देहरादून स्थानी पता – सैक्टर- 4 ए-24 हरगोविन्द बिहार रोहणी थाना रोहणी सेक्टर-05 दिल्ली उम्र- 35 वर्ष को थाना डोईवाला में थानों रोड से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की।

नशे के कारण आरोपियों की पत्नियां चली गई थी मायके

डोईवाला। गिरफ्तार किये गये आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया गया है कि उनमें से मनीष रावत पूर्व में टैक्सी ड्राईवर था और इन्द्रजीत पहले अमेरिका में रहता था, 2016 दिल्ली आ गया था। पिछले दो साल से देहरादून में अपनी पत्नी के साथ किराये में रहा था। इन्द्रजीत देहरादून में रहकर एक काल सेन्टर में आंनलाइन नौकरी कर रहा था। पिछले कुछ समय से उसकी नौकरी छूट गयी थी, इसके बाद उसने मियांवाला शराब ठेके के पास चिकन पकौडे की ठेली लगायी, वही उसकी मुलाकात मनीष रावत से हुयी।

दोनो नशा करने के आदी थे, इसलिए दोनो मे दोस्ती हो गयी । इन दोनो की नशे की आदत के कारण दोनो की पत्नियां इन्हे छोडकर अपने मायके चली गयी थी। दोनो ने मिल कर एक योजना बनायी कि इन्द्रजीत की आई-20 कार मे सवार होकर दोनो किसी बस स्टेशन अथवा ऐसी जगह पर जायेंगे, जहाँ कोई पैसेन्जर अकेले खडा होकर किसी वाहन का इन्तेजार कर रहा हो। उससे किराया तय करके कार मे बैठा लेंगे।

इन्द्रजीत ड्राईवर के रूप मे रहेगा और मनीष पहले से ही पिछली सीट पर बैठी हुयी सवारी के रूप मे रहेगा। रास्ते मे जब एकान्त मिले तो मनीष पहले से ही तय योजना के अनुसार ड्राईवर के रूप मे गाडी चला रहे इन्द्रजीत को कहेगा कि आप गाडी 50 मीटर अन्दर ले लो, मुझे कुछ सामान लेना है। इसी बीच मनीष एक एयरगन को असली बन्दूक के रूप मे दिखाकर उसकी बट से बैठी सवारी के सिर पर चोट मारेगा और दोनो मिल कर उसको लूट लेंगे । इस काम के लिए दोनो ने इन्द्रा मार्केट देहरादून से 1500/-रू0 की एक एयरगन खरीदी ।

महिला ने आरोपी के हाथ में अपने दांत गडाकर बचाई थी जान

डोईवाला। दिनांक 06-10-2022 को उक्त दोनो इन्द्रजीत की आई-20 कार लेकर भानियावाला तिराहा पर शाम को करीब 07.30 बजे पहुँचे। वहाँ उन्हे एक महिला मिली, जो लालतप्पड फैक्ट्री से डयूटी के बाद रानीपोखरी अपने घर जाने के लिए सवारी का इन्तजार कर रही थी। इन लोगो के द्वारा उक्त महिला को रानीपोखरी जाने के लिए 15/- रू0 मे किराया तय करके बैठा लिए और चल दिये, परन्तु रास्ते मे इन्होने कार डांडी की तरफ मोड दी ।

इस पर महिला ने विरोध किया, परन्तु इन लोगो ने एयर पिस्टल दिखाकर महिला के सिर पर बट से वार किया और उसका बैग, मोबाईल, एटीएम कार्ड व 150/- रू0 लूट लिये। परन्तु महिला द्वारा अभि0 मनीष के हाथ मे दांत काटकर अपने आप को छुडाया। अभियुक्त मनीष के मेडीकल मे भी उसके हाथ मे दांत काटे जाने की पुष्टि हुई है। आरोपियों के पास से एक एयर गन, घटनाओं में लूटे गए दो मोबाइल फोन अलग-अलग कंपनियों के,₹ 750 नगद (लूट की घटनाओं से प्राप्त) और 02 एटीएम कार्ड बरामद किए गए हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!