अपराधउत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मराजनीति

पश्चिम बंगाल में असुरक्षित हैं हिंदू, राष्ट्रपति शासन की मांग

Listen to this article

भानियावाला तिराहे पर ममता बनर्जी का पुतला फूंका

देहरादून। मुर्शिदाबाद में आरएसएस स्वयंसेवक के परिजनों की नृशंस हत्या से गुस्साए व्यापार मंडल, विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाम की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पुतला फूंका।

भानियावाला व्यापार मंडल उपाध्यक्ष सतबीर सिंह मखलोगा ने कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंदूओं पर अत्याचार किए जा रहे हैं। बंधु प्रकाश पाल और उनके परिवार के साथ जो हुआ उसे भुलाया नहीं जा सकता है। केंद्र सरकार को इस मामले में पहल करके ममता बनर्जी सरकार और आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। कहा कि मीडिया का एक खास वर्ग और अवार्ड वापसी गैंग को भी इसका संज्ञान लेकर अपने बचे हुए अवार्ड वापस करने चाहिए।

बजरंग दल के नगर संयोजक अंकत राजपूर ने एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में कहा कि 10 अक्टूबर को मुर्शिदाबाद में बंधु प्रकाश पाल, उनकी गर्भवती पत्नी और आठ वर्ष के बेटे की नृशंस हत्या कर दी गई। बांग्लादेशी घुसपैठियों के वोट बैंक के लालच में ममता सरकार उनके अपराधों पर पर्दा ड़ाल रही है। वर्तमान में पश्चिम बंगाल में हिंदू खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। इसलिए वहां की सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए। मामले की सीबीआई जांच, एनआरसी लागू, बांग्लादेश से आए हिंदूओं को नागरिकता और राष्ट्रविरोधी तत्वों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। भानियावाला में पुतला फूंकने वालों में संजीव सैनी, नरेंद्र नेगी, पंकज रावत, हरीश गुसाई, नितिन बडथ्वाल, विजय बक्शी, ईश्वर रौथाण, पुष्कर नेगी आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!