अपराधउत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीतिराज्य

अंकिता भंडारी हत्याकांड: वीआईपी नाम के खुलासे को लेकर धरना देने जा रहे कांग्रेसी हिरासत में लिए

देहरादून। अंकिता भंडारी हत्याकांड में वीआईपी के नाम का खुलासा करने, हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराने और विधानसभा बैकडोर भर्ती घोटाले में दोषियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।

कांग्रेस नेता जयेंद्र रमोला युवा न्याय संघर्ष समिति ऋषिकेश के बैनर तले राजभवन के बाहर धरना देने जा रहे थे।

इससे पहले पुलिस ने रास्ते से उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस कांग्रेस और आंदोलन से जुड़े कार्यकर्ताओं को कैंट थाने ले आई।

कार्यकर्ता थाने में ही धरने पर बैठ गए। सूचना पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा मौके पर पहुंचे और पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को धरने से उठाने के दौरान पुलिस से धक्कामुक्की हुई। माहरा ने कहा कि सरकार आरोपियों को बचाने में लगी है।

लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन भी नहीं करने दिया जा रहा है। पुलिस अपराधियों को पकड़ती नहीं है और जो लोग आवाज उठाते हैं उनकी वीडियोग्राफी कराई जाती है।

मौके पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता एकत्र हो गए थे।

ये भी पढ़ें:  वनाग्नि से 4 वनकर्मियों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री धामी ने प्रकट किया गहरा दुःख, 10 लाख अनुग्रह राशि देने की सीएम की घोषणा

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!