उत्तराखंडदेशदेहरादूनधर्म कर्मराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

पशुओं में फैली लंपी बिमारी, पशुपालन विभाग बेखबर

पशुओं की लंपी बिमारी को लेकर किसान मोर्चे ने किया प्रदर्शन

Listen to this article

Dehradun. पशुओं में लंपी बीमारी की रोकथाम को संयुक्त किसान मोर्चे ने प्रदर्शन के माध्यम से अपनी आवाज बुलंद की।

उत्तराखंड में फैली पशुओं में लंपी बीमारी ने डोईवाला क्षेत्र में भी अपने पैर पसार लिए हैं जिसको लेकर पशु चिकित्सा विभाग गम्भीर नहीं है।

पशु चिकित्सा विभाग की इसी लापरवाही से नाराज संयुक्त किसान मोर्चा डोईवाला ने पशुओं की इस भयंकर बीमारी की रोकथाम के लिए उप जिलाधिकारी महोदया को ज्ञापन देकर पशुओं में टीकाकरण व वेक्सिनेशन किये जाने की मांग की।

 

तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि गाय, पशुपालक किसानो के रोजगार का मुख्य साधन है।

इसके अलावा गाय को हिंदू धर्म मे पूजा भी जाता है लेकिन गाय के नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा सरकार पशुओं में फैली इस भयंकर बीमारी लंपी से बिल्कुल बेखबर हैं।

पीड़ित किसान जब पशु चिकित्सालय में जाते हैं तो वहाँ इस बीमारी के इलाज के लिए इससे सम्बंधित कोई वैक्सीन आदि दवाई मौजूद नहीं है। जिससे नाराज होकर संयुक्त किसान मोर्चे ने उप जिलाधिकारी को ज्ञापन प्रेषित कर मांग की है

कि पशु चिकित्सा विभाग और राज्य सरकार शीघ्र इस ओर ध्यान देते हुए पशुओं में लंपी बीमारी के लिए वेक्सिनेशन टीकाकरण के काम को तुरन्त करे।

प्रदर्शन में संयुक्त किसान मोर्चे के अध्यक्ष ताजेन्द्र सिंह, किसान सभा जिला संयुक्त सचिव याक़ूब अली, किसान नेता बलबीर सिंह, किसान कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष उमेद बोरा,

मोहित उनियाल, किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह खालसा, किसान सभा के ज़ाहिद अंजुम, गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष गुरदीप सिंह, इलियास अली, मु०अकरम, शुभम, इकराम, आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!