उत्तराखंडदेहरादूनराज्यस्वास्थ्य और शिक्षा

राज्य शैक्षिक नवाचारी संवाद टीम द्वारा 350 से अधिक शिक्षकों को ऑन लाइन कार्य का दिया गया प्रशिक्षण

Listen to this article

Dehradun. राज्य शैक्षिक नवाचारी संवाद टीम द्वारा आयोजित पांच दिवसीय ऑनलाइन आईसीटी कार्यशाला का सफलतापूर्वक समापन हुआ।

कार्यशाला में पूरे प्रदेश से 350 से अधिक शिक्षकों ने गूगल मीट के द्वारा आईसीटी से सम्बंधित प्रशिक्षण प्राप्त किया। महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा बंशीधर तिवारी ने इसका समापन किया। कार्यशाला का शुभारंभ दिनेश गौड़ अपर निदेशक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान (सीमेट) देहरादून द्वारा किया गया।

कार्यशाला में उप राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा अभियान आकाश सारस्वत, निदेशक प्रारंभिक शिक्षा वन्दना गर्ब्याल ने भी संबोधित किया। समापन के अवसर पर महानिदेशक विद्यालयी शिक्षा बंशीधर तिवारी ने कहा कि शिक्षक समाज का निर्माणकर्ता है और बच्चों का भविष्य शिक्षकों पर ही सर्वाधिक निर्भर होता है।

शिक्षकों के अच्छे मार्गदर्शन और समर्पण से ही समाज आगे बढ़ रहा है। उन्होंने ग्रीष्मावकाश में ऑनलाइन आईसीटी कार्यशाला आयोजित करने के लिये शैक्षिक नवाचारी संवाद टीम की सराहना करते हुए कहा कि सभी शिक्षक कार्यशाला से अर्जित ज्ञान का अपने विद्यालयी कार्यों में अधिक से अधिक उपयोग कर सकेंगे।

शैक्षिक नवाचारी संवाद टीम के मार्गदर्शक / टीम मोटिवेटर लक्ष्मण सिंह मेहता ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया। उन्होंने शैक्षिक नवाचारी संवाद टीम द्वारा शिक्षा, शिक्षार्थियों एवं शिक्षकों के व्यक्तित्व विकास के लिए किये जा रहे कार्यों की जानकारी दी। टीम के टेक्निकल एक्सपर्ट / टीम कोर्डिनेटर शंकर सिंह अधिकारी के संचालन में आयोजित कार्यशाला में प्रशिक्षकों राप्रावि चौंडा पौड़ी के सहायक अध्यापक जसवंत सिंह बिष्ट ने कार्यशाला से जुड़े 350 से अधिक अध्यापक-अध्यापिकाओं को ई-मेल आईडी बनाना,

आईएफएमएस सिस्टम, गूगल क्विज, एम एस वर्ड, एक्सेल, राप्रावि रामगढ़ देहरादून के प्रधानाध्यापक अरविन्द सिंह सोलंकी ने एजुकेशन पोर्टल पर छात्रों की ऑनलाइन एंट्री करना, मासिक परीक्षा के अंक अपलोड करना, शाला सिद्धि तथा यू-डायस के आँकड़ो को ऑनलाइन फीड करना,

राप्रावि बैकोट पिथौरागढ़ के सहायक अध्यापक रमेश चंद्र जोशी(सत्यम) ने पिक्सल लैब के माध्यम से शिक्षण सामग्री, आई कार्ड तथा प्रमाण पत्र तैयार करना, राप्रावि बालखिला मलारी, चमोली की सहायक अध्यापिका जया चौधरी द्वारा काईन मास्टर के माध्यम से वीडियो बनाने आदि का प्रशिक्षण अलग-अलग दिवसों पर दिया गया।

कार्यशाला में शैक्षिक नवाचारी संवाद कोर कमेटी की मंजू बहुगुणा, मीडिया प्रभारी नमिता सुयाल, गायत्री पांडेय, दीपा आर्य, मीनू जोशी, मोनिका रावत, नीरलता, विजय बडौला, राजेन्द्र बधानी, नीरज पन्त, कंचन बाला उनियाल, सुनील गौड़, सरोजनी रावत, राज कुमार बोहरा, नीलम बिष्ट, शगुफ्ता रहमान, अशोक कुमार ओली, गीता जोशी आदि शिक्षकों ने सहयोग किया।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!