अपराधउत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेहरादूनराज्य

रानीपोखरी: ट्रांसपोर्ट बुकिंग के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले छह गिरफ्तार

डोईवाला। ट्रांसपोर्ट बुकिंग के नाम पर ऑनलाइन ठगी करने वाले छह आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता पाई गई है।

एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने रानीपोखरी में प्रेसवार्ता में कहा कि बीते 12 जनवरी को

विजय भट्ट निवासी रानीपोखरी द्वारा थाने में लिखित तहरीर दी गई कि बीते 24 दिसंबर को

उनके सीएससी सेंटर में दो व्यक्ति आये और कहा कि वो उनके एकाउंट में 50,000 हजार

रुपए डलवा रहे हैं, जो उन्हें नगद दे दो। उसके बाद जब एकाउंट में 50 हजार रुपए आए तो

उन्होंने 49,500/- नगद दे दिए। कुछ दिन बाद में वो अपने खाते से पैसे निकालने बैंक गए तो

पता चला कि उनका खाता होल्ड हो रखा है। जानकारी करने पर बैंक द्वारा उन्हें एक

मोबाइल नंबर दिया गया। जिस पर उन्होंने जानकारी की गई तो बताया गया कि उनका

ज्योति रोडलाइंस के नाम से गाजियाबाद 30प्र0 में ट्रासपोर्ट का काम है। और उनकी कुछ

मशीनें रोहतक हरियाणा से गोरखपुर उ0प्र0 आनी थी। जिसके लिए हमने ऑनलाइन

ट्रांसपोर्ट का नंबर ढूंढा था। और किसी व्यक्ति ने फर्जी तरीके से हमसे ₹50000/- आपके खाते

में जमा करा दिये थे। जब उन्हें पता चला कि ये व्यक्ति फर्जी है और कोई ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था

नहीं की गई। तो फिर उनके द्वारा खाते को होल्ड कराया गया। जिसके बाद उन्हें चला कि

उनके साथ धोखाधड़ी हो गई है। पुलिस ने तहरीर पर मु0अ0सं0 04/23 धारा 420

आईपीसी पंजीकृत किया गया।
जिसके बाद रानीपोखरी पुलिस द्वारा आने-

जाने वाले रूट पर लगे सीसीटीवी कैमरों को चैक किया गया। जिसमें पुलिस टीम को 4-5

संदिग्ध व्यक्तियों का एक नीले रंग की दिल्ली नंबर की कार में आना-जाना सामने आया।

आरोपियों के मियांवाला के आसपास रूके होने के संबंध में पुलिस को पता चला। और स्मार्ट

सिटी/यातायात कार्यालय से भी लगातार संदिग्ध वाहन का ज्यादातर थानों-,रायपुर रोड

व हर्रावाला डोईवाला के बीच में आना-जाना सामने आया। जिस पर पुलिस टीमों द्वारा थानो

भोगपुर रोड पर जाखन पुल से छह आरोपियों को वाहन संख्या डीएल I2सीएस- 7534

अर्टिगा नीला रंग के साथ गिरफ्तार किया गया। आरोपियों से फर्जी मोबाइल नम्बर, फर्जी बैंक

खाता संख्या व बैंक ट्रॉजेक्शन आदि बरामद किए गए।

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के नाम सत्यम सिंह (26) पुत्र दीप सिंह रजावत नि0 ग्राम

कैलोर थाना माधोगढ़ जिला जालौन, उ0प्र0, ऋषिराज सिंह (20) उर्फ गौरव पुत्र रामप्रकाश

सिंह चौहान नि0 ग्राम सहन थाना कुर्रा जिला मैनपुरी, उ0प्र0, राहुल सिंह (25) पुत्र राकेश

सिंह नि0 ग्राम मजगांव थाना मजगाव जिला हमीरपुर, उ0प्र0,रितिक चौहान (20) पुत्र

अशोक चौहान नि० अग्रवाल मोहल्ला कोतवाली मैनपुरी 30प्र0, अंकित प्रताप

सिंह(25) पुत्र सुपेन्द्र सिंह नि0 हरोली थाना माधोगढ़ जिला जालौन उ0प्र0, कृष्णेन्द्र प्रताप

सिंह (27) पुत्र कमोद प्रताप सिंह नि0 माधोगढ़ जिला जालौन उ0प्र0 को गिरफ्तार किया गया है।

ऐसे करते थे आरोपी ठगी

डोईवाला। पूछताछ में आरोपी सत्यम द्वारा बताया गया कि उसके द्वारा एक माह पूर्व

हर्रावाला में विंडलास में एक फ्लैट किराए पर लिया था। और उसने कुछ मोबाइल नंबर फर्जी

ट्रांसपोर्ट कंपनी के नाम से नेट पर अपलोड किए गए थे। ऑनलाइन या जस्ट डायल

मोबाइल ऐप्प के माध्यम से जो लोग ट्रासपोर्ट बुकिंग हेतु उन नंबरों को सर्च कर उमस संपर्क

करते थे, वो उनको कॉल करके ट्रांसपोर्ट बुकिंग के नाम पर फर्जी तरीके से बिल्टी और ट्रक की

फोटो भेज कर एडवांस में पैसा जमा करा देते हैं। लोगों से ठगी कर मांगे गए पैसे उनके द्वारा

एक फर्जी यूनियन बैंक के खाते में डलवाए जाते थे। जिन्हें निकालने के लिए उनके द्वारा

फोन पर यूनियन बैंक का एक ऐप्प डाउनलोड किया गया था जिससे वो यूपीआई के माध्यम

से या किसी सीएससी सेंटर या दुकान वाले के खाते में ट्रांसफर कर उससे नगद प्राप्त कर लेते

थे। या एटीएम से निकाल लेते थे। कुछ समय पूर्व गाजियाबाद के एक व्यक्ति द्वारा उनसे

ट्रांसपोर्ट बुकिंग के संबंध में संपर्क किया गया। जिस पर वो पैसे को ट्रांसफर करवाने के लिए

वो देहरादून से बाहर किसी सीएससी सेंटर की तलाश में थे। जिस पर उन्होंने ट्रांसफर करवाने

के लिए सीएससी सेंटर रानीपोखरी मालिक से संपर्क किया। उनके द्वारा अभी तक फरीदाबाद

हरियाणा से एक व्यक्ति से र47,000/-, अहमदाबाद गुजरात से एक व्यक्ति से

₹ 60,000/- तथा झांसी, झारखंड से एक व्यक्ति से ₹1,25,000 यूनियन बैंक के फर्जी खाते में डलवाए गए है।

 

ये भी पढ़ें:  मोहब्बत की दुकान का दावा करने वालों को सनातन संस्कृति और मातृ शक्ति से नफरत क्योंः बंसल

तीन साल से फरार इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया

डोईवाला। पुलिस ने एक तीन साल से फरार इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया है।

 

फरार इनामी गिरफ्तार।

एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने कहा कि पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड द्वारा चलाए जा रहे

अभियान पुलिस मंथन चुनौतियां व समाधान थीम के अंतर्गत वांछित तथा इनामी अपराधियों की धरपकड़ हेतु चलाए जा रहे हैं।

थाना सहसपुर पर पंजीकृत मुकदमा अपराध संख्या 6720 पारा 420/406 आईपीसी में

फरार चल रहे आरोपी किरण पुरुषोत्तम चौहान पुत्र पुरुषोत्तम चौहान निवासी अयूब भाई चाल

सोसायटी रोड नियर रेलवे कॉलोनी खादी भवन जुहू मुंबई महाराष्ट्र जो उबर्थ से फरार चल रहा

था। जिस पर दस हजार का इनाम घोषित किया गया था। आरोपी को सहसपुर पुलिस की

गठित टीम द्वारा मुंबई महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में आरोपी द्वारा बताया

गया कि उसने 13.3.20 को रमेश कुमार से कंपनी के स्क्रेप पार्ट खरीदने के नाम पर

1200000 रुपए अलग-अलग किस्तों में अपने खाते में डलवा लिए थे। जिस के संबंध में रमेश

कुमार द्वारा उसके विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत कराया था। तभी से वो पुलिस से बचकर घूम रहा था।

Related Articles

Back to top button