अपराधउत्तराखंडदेहरादूनधर्म कर्मराजनीति

खाद्य पदार्थो की कालाबाजारी करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई

खबर को सुने

डोईवाला। चिन्हित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति द्वारा मंहगाई पर रोक लगाने की मांग की गई है।

संयुक्त समिति द्वारा जिला पूर्ति अधिकारी को बढ़ती महंगाई पर रोक लगाने के संबंध में एक ज्ञापन दिया गया। जिसमें कहा गया कि कोरोना काल में महंगाई चरम पर पहुंच गई है। रिफाइंड आयल, सरसों का तेल, सभी प्रकार की दालें, मसाले, चीनी, चायपत्ती, आटा, चावल और अन्य खाद्य सामग्री दोगुने दाम पर मिल रही हैं।

जिससे आम लोगों का बजट बिगड़ गया है। वहीं कुछ मुनाफाखोर खाद्य पदार्थो की कालाबाजारी कर भारी मुनाफा कमा रहे हैं।

इसलि कालाबाजारी और कालाबाजारी करने वालों पर कार्रवाई की जानी चाहिए। कहा कि माहामारी में पहले ही लोगों को रोजगार छिन गए हैं। अब मंहगाई के रूप में दोहरी मार गरीब पर पड़ रही है।

कहा कि सरकारी आंकड़ों के मुताबिक महंगाई दर अब तक के सर्वोच्च स्तर 12.94 पर पहुंच गई है जबकि साल भर पहले यह 3.37 प्रतिशत थी। ज्ञापन में मनीष कुमार नागपाल, नवीन जोशी आदि के हस्ताक्षर हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!