उत्तराखंडदेशदेहरादूनराजनीति

हॉट सीट: मतदान के अगले दिन इन कार्यो में व्यस्त रहे doiwala से चुनाव लड़ रहे प्रत्याशी

Listen to this article

कहीं चाय पर चर्चा तो कहीं अपने घर में सुकून से कार्यकर्ताओं संग बैठे रहे प्रत्याशी

डोईवाला।  मतदान के अगले दिन प्रत्याशियों ने अपने कार्यकर्ताओं संग बैठक कर मतदान का फीडबैक लिया।

कहीं चाय पर चर्चा तो कुछ ने अपने पैंडिंग वर्क निपटाए। सबसे पहले बात करते हैं। उस पार्टी की जो पहली बार यहां चुनावी मैदान में उतरी है। और इस पार्टी ने अच्छे अच्छों का गणित बिगाड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। यहां बात हो रही है आम आदमी पार्टी की। आप के डोईवाला प्रत्याशी राजू मोर्य चुनावी मैदान में हैं। चुनाव समाप्त होने के बाद वो रायपुर स्पोर्ट कॉलेज पहुंचे।

जहां उन्होंने स्ट्रांग रूम में ईवीएम को अपने सामने स्ट्रांग रूम में रखते हुए देखा। उसके बाद मंगलवार को राजू मोर्य फिर से रायपुर पहुंचे। और स्ट्रांग रूम के सील होने के बाद ही वापस लौटै। वापस लौटने के बाद उन्होंने पूरे दिन कार्यालय में कार्यकर्ताओं संग चर्चा की। कहा कि डोईवाला में ऐसे आठ पोलिंग बूथ थे। जहां पिछले बार कुल मत प्रतिशत से 15 प्रतिशत कम व उससे अधिक मतदान हुआ। इस पर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं संग चर्चा की।

पत्रकारिता जगत में सनसनी फैलाने के बाद राजनीति में कदम रखने वाले डोईवाला से यूकेडी प्रत्याशी ने कहा कि उन्हे जनता से उम्मीद से अधिक सर्मथन मिला है। मतदान के अगले दिन उन्होंने जनता के मुद्दों से जुड़े हुए पैंडिंग कार्य निपटाए। कहा कि उनकी राजनीति चुनाव लड़ने तक ही सीमित नहीं रहेगी। बल्कि आगे भी यूकेडी को मजबूत बनाकर वो जनता के लिए कार्य करेंगे। जिससे साफ है कि सेमवाल आगे भी डोईवाला और अन्य स्थानों पर सक्रिय रहेंगे। अब डोईवाला से उस प्रत्याशी की बात करते हैं। जो नामांकन जमा करने से लेकर मतदान के दिन तक खूब चर्चाओं में रहा।

ये नाम है भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष और निर्दलीय प्रत्याशी जितेंद्र नेगी का। जितेंद्र नेगी मतदान के अगले दिन रिलेक्स दिखे। और उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं संग कप प्लेट में चाय का आनंद लिया। बता दें कि कप प्लेट उनका चुनावी निशान है। उनका भी दावा है कि डोईवाला की जनता ने उन्हे खूब सर्मथन दिया है। इसलिए वो लोगों के साथ उनके घर जाकर कप प्लेट पर सुकून की चाय पी रहे हैं।

कप प्लेट पर चाय का आनंद लेते निर्दलीय प्रत्याशी जितेंद्र नेगी

अब बात करते हैं उस युवा चेहरे की जिसकी पत्नी पंचायत प्रतिनिधि है। और वो खुद कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हैं। गौरव सिंह (गिन्नी) जिन्होंने मतदान के अगले दिन कांग्रेस के चुनावी कार्यालय में अपने कार्यकर्ताओं संग बैठक कर उनका आभार जताया। उनका कहना है कि जनता ने जिस तरह से कांग्रेस को अपना सर्मथन दिया है। और कांग्रेस के प्रत्येक कार्यकर्ता ने पूरी मेहनत से कार्य किया है।

जिस कारण कांग्रेस की जीत सुनिश्चत है। अब बात करते हैं उस प्रत्याशी की जिसे डोईवाला में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह चुनावी जंग के लिए नामांकन के आखिर दिन ऐन वक्त पर मैदान में उतारा गया। यह वो नाम है। जिसे बिना प्रयास और दौड़ भाग के भाजपा का टिकट मिला है। और जिसने डोईवाला से लेकर दिल्ली तक के दिग्गजों को पछाड़कर टिकट के मामले में अपने नाम का डंका बजाया है।

यह नाम है भाजपा प्रत्याशी बृजभूषण गैरोला का। जो मतदान के अगले दिन अपने घर व बाहर कार्यकर्ताओं से मिले। और उन्हे अपार जनसर्मथन देने के लिए आभार जताया। उनका कहना है कि डोईवाला की जनता व उनके कार्यकर्ताओं ने हमेशा से एकजुट होकर डोईवाला में भाजपा को विजयी बनाया है। इसलिए डोईवाला में भाजपा द्वारा किए करोड़ों के विकास कार्यो व कार्यकर्ताओं की जी तोड़ मेहनत से डोईवाला में भी भाजपा एक बार फिर से जीत का परचम लहराएगी।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!