उत्तराखंडएक्सक्यूसिवदेशदेहरादूनराजनीति

Doiwala हॉट सीट पर कौन, कड़ाके की ठंड़ में डोईवाला में सियासी पारा चढ़ा

Listen to this article

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत विधानसभा चुनाव नहीं लड़ना चाहते हैं

डोईवाला सीट से तीन बार जीत चुके हैं चुनाव त्रिवेंद्र सिंह रावत

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को लिखा पत्र

डोईवाला में सियासी कयासबाजियां शुरू

डोईवाला। डोईवाला विधायक व पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के चुनाव से ऐन वक्त पहले चुनाव लड़ने से मना करने को लेकर डोईवाला में भाजपाई हैरान हैं।

क्योकि डोईवाला के भाजपाईयों को त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ कार्य करने का लंबा अनुभव रहा है। वो 2014 के उपचुनाव को छोड़कर राज्य गठन से लेकर अब तक डोईवाला के विधायक रहे हैं। चार साल मुख्यमंत्री रहते हुए भी त्रिवेंद्र सिंह रावत ने डोईवाला में अनेक विकास कार्य किए हैं। जिनके बल पर भाजपाई चुनाव जीतने का मन बना चुके थे। त्रिवेंद्र सिंह रावत ऐन वक्‍त पर चुनाव लड़ने से क्‍यों इनकार कर दिया? इसे लेकर डोईवाला में भी कई तरह की कयासबाजियां शुरू हो गई हैं।

अभी तक भाजपा हाईकमान ने डोईवाला विधानसभा सीट पर उनकी दावेदारी को लेकर पर्दा डाल रखा था।  वहीं त्रिवेंद्र सिंह डोईवाला जी-जीन से चुनावी तैयारियों में जुटे थे। लेकिन चुनाव से ठीक पहले उनके राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर चुनाव नहीं लड़ने को कहने से डोईवाला में सियासी पारा आसमान में चढ गया है।

डोईवाला भाजपा का मजबूत गढ़ रहा है। 2014 उपचुनाव को छोड़कर यहां से भाजपा कभी चुनाव नहीं हारी है। त्रिवेंद्र सिंह रावत तीन बार यहां से चुनकर विधानसभा पहुंचे हैं। पिछली बार भी वह यहीं से जीते थे। और मुख्यमंत्री बने थे। 2014 में निशंक के सांसद बनने के बाद हुए उपचुनाव में त्रिवेंद्र डोईवाला में कांग्रेस के हीरा सिंह बिष्ट से हार गए थे। 2017 में फिर त्रिवेंद्र यहां से जीतकर मुख्‍यमंत्री की कुर्सी तक पहुंचे। इस बार भी त्रिवेंद्र सिंह रावत सीएम पद के प्रबल दावेदार बताए जा रहे थे।

और डोईवाला के भाजपाई भी कहीं न कहीं ये मानते थे कि अगली बार भी त्रिवेंद्र सिंह सीएम बन सकते हैं। बुधवार को त्रिवेंद्र सिंह रावत ने डोईवाला के प्रमुख भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठककर चुनाव नहीं लड़ने के बारे में बताया तो कार्यकर्ताओं के नीचे से मानों जमीन खिसक गई। उनके इस फैसले पर कई भाजपाई काफी भावुक हो गए। डोईवाला में भाजपा अब किसे चुनावी मैदान में उतारेगी। इस बात को लेकर डोईवाला में कई नामों की चर्चाओं का बाजार गर्म है। और सियासी पारा काफी ऊपर पहुंच गया  है।

डोईवाला के मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल ने कहा कि पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत को डोईवाला की जनता विकास पुरूष के रूप में हमेशा याद रखेगी। शिक्षा, चिकित्सा, रोजगार सहित तमाम क्षेत्रों में उनके किए कार्यो से यहां की जनता को आगे भी लाभ मिलेगा। माजरीग्रांट मंडल अध्यक्ष राजकुमार ने कहा कि पूर्व सीएम के फैसले से उन्हे दुख हुआ है। क्योकि वो उनके प्रिय नेता हैं।

लेकिन पार्टी हाईकमान जिसे भी डोईवाला से मैदान में उतारेगी। वो पूरी मेहनत से उसके लिए कार्य करेंगे। भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी संपूर्ण सिंह रावत ने कहा कि पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का डोईवाला में लंबा राजनैतिक इतिहास रहा है। वो यहां के लोगों के साथ हर दुख-सुख में खड़े हुए हैं। आगे पार्टी जिसे भी डोईवाला में भेजेगी। उसके लिए कार्यकर्ता पूरी मेहनत से जुटेंगे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!